bobby deol and kareena kapoor

हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान सनी देओल अपने भाई बॉबी देओल के करियर को लेकर काफी भावुक हो गए थे। फिल्म पोस्टर बॉयज़ में बॉबी देओल ने लंबे समय बाद बड़े पर्दे पर वापसी की है। हालांकि बॉक्स ऑफिस पर फिल्म कुछ खास कमाल नहीं कर पाई है। बॉबी ने एक इंटरव्यू में बताया था कि पिछले 10 साल से वह इंडस्ट्री में काम मांग रहे है, लेकिन कोई उन्हें अपनी फिल्म में कास्ट नहीं करना चाहता। बॉबी अपने इस उतार-चढ़ाव भरे करियर का कसूरवार करीना कपूर को मानते है।

2017 में आई शाहिद कपूर और करीना कपूर की फिल्म जब वी मेट को लोगों ने काफी पसन्द किया था। खबरों के मुताबिक फिल्म के निर्देशक इम्तियाज़ अली ने करीना कपूर के अपोज़िट बॉबी देओल को लीड रोल के लिए फाइनल किया था। लेकिन करीना कपूर ने बॉबी के साथ फिल्म करने से मना कर दिया। करीना ने अपने एक्स-बॉयफ्रैंड शाहिद को फिल्म के लिए अप्रोच किया। उसके बाद फिल्ममेकर्स करीना के फैसले से सहमत हो गए और बॉक्स ऑफिस पर फिल्म ने शानदार प्रदर्शन किया।

बॉबी देओल इम्तियाज़ अली के काफी बड़े फैन है। फिल्म जब वी मेट का नाम पहले गीत रखा गया था। फिल्म की टीम की ओर से जब बॉबी को कॉल आया तो उन्होंने फिल्म के लिए तुरंत हां कर दी। लेकिन थोड़े समय बाद फिल्ममेकर्स ने ज्यादा बजट के कारण फिल्म ना बनाने का फैसला किया। लगभग 6 महीने बाद फिल्म पर दोबारा काम शुरु किया गया। बहरहाल, इस बार बॉबी की जगह करीना कपूर के अपोज़िट शाहिद कपूर मुख्य भूमिका निभा रहे थे।

यह बात बॉबी को जब पता लगी तो उन्हें काफी बुरा लगा। बॉबी और करीना ‘दोस्ती’ और ‘अजनबी’ जैसी फिल्मों में साथ काम कर चुके है। करीना कपूर की यह बात आज तक भी बॉबी के दिल में बैठी हुई है। फिल्म जब वी मेट के बाद करीना कपूर की लगभग सभी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर हिट साबित हुई है। वहीं शाहिद कपूर को भी इस फिल्म से इंडस्ट्री में अलग पहचान मिली थी। इस फिल्म में अगर बॉबी देओल होते तो शायद आज उनका नाम भी इंडस्ट्री के बड़े स्टार्स में शामिल होता।